बड़ी ख़बरें

योगी सरकार के मंत्री ने सड़क बनाने के लिए खुद ही उठा लिया 'फावड़ा' पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया को गुरुद्वारे जाने से रोका गया इस बैंक को बेच रही है सरकार, जानिए कौन है खरीदार हापुड़ लिंचिंग का दूसरा वीडियो, बीच सड़क घायल की पिटाई और दाढ़ी नोचते दिखे लोग एटा : फूड प्‍वाइजनिंग से 2 की मौत, 28 से ज्‍यादा अस्‍पताल में भर्ती कांस्टेबल बोला- हमने नहीं दी परिवार बढ़ाने के लिए चिट्ठी, SP ने दिए जांच के निर्देश PCS-2015 के चयनित अफसरों को सीबीआई ने किया दिल्ली तलब मिशन 2019 में जुटा RSS, बीजेपी की जीत के लिए बनाई ये रणनीति US को अब भी है नॉर्थ कोरिया से खतरा! ट्रंप ने एक साल के लिए बढ़ायी इमरजेंसी ईद पर लोगों से गले मिलने वाली अलीशा ने मांगी माफी, कहा- घर से बाहर निकलना हुआ दूभर

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार से दो दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं. इस दौरान वे कारगिल जिले में बनने वाली एशिया की सबसे बड़ी जोजिला सुरंग का शिलान्यास करेंगे. 14.2 किलोमीटर लंबी सुरंग के बनने पर जोजिला से गुजरने पर लगने वाला समय 3.5 घंटों से घटकर सिर्फ 15 मिनट हो जाएगा. इतना ही नहीं सुरंग बन जाने से श्रीनगर-कारगिल-लेह के बीच 12 महीने सड़क संपर्क बनाए रखने में मदद मिलेगी. ऐसे में ये सुरंग रणनीतिक रूप से भी काफी अहम हो जाती है. सर्दियों के मौसम में भारी बर्फबारी के कारण कारगिल पोस्ट तक सप्लाई पहुंचाना मुश्किल हो जाता है, सुरंग बनने पर ये समस्या दूर हो जाएगी.

जानें, जोजिला सुरंग के बारे में खास बातें
- जोजिला सुरंग को बनाने के लिए भारतीय सेना ने सबसे पहले साल 1997 में सर्वे किया था. 1999 के करगिल युद्ध के बाद इसकी योजना को अमलीजामा पहनाने की तैयारी शुरू की गई.
- जोजिला सुरंग एशिया की सबसे लंबी टू-वे टनल होगी.
- सुरंग मौजूदा हाईवे से लगभग 400 मीटर नीचे बनाई जाएगी.
- 14.2 किमी लंबी इस सुरंग की लागत करीब 6,809 करोड़ रुपए होगी.

- टनल को साल 2026 तक तैयार करने की योजना है.
- सुरंग बनने के बाद जोजिला से गुजरने में लगने वाला वक्त 3.5 घंटे से घटकर सिर्फ 15 मिनट हो जाएगा.
- ये सुरंग वेंटिलेशन, विद्युत आपूर्ति, इमरजेंसी लाइटिंग, सीसीटीवी, ट्रैफिक लॉगिंग इक्विपमेंट, टनल रेडियो सिस्टम जैसे कई लेटेस्ट और हाईटेक फीचर्स से लैस होगी.
- इस सुरंग में पैदल राहगीरों के लिए भी खास व्यवस्था की जाएगी. उनके लिए 250 मीटर में रोड क्रॉस करने की व्यवस्था होगी.- सुरंग को सुरक्षित बनाने के लिए हर 125 मीटर पर एक इमरजेंसी टेलीफोन और फायर फाइटिंग केबिन भी होगा.
- इस सुरंग का निर्माण कार्य जिस इलाके में किया जाएगा वह समुद्र तल से 11,578 फीट की ऊंचाई पर स्थित है.

माना जा रहा है कि, जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य के दौरान व इसके बन जाने के बाद लद्दाख क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे. साथ ही पर्यटन भी बढ़ेगा. फिलहाल यहां ज्यादातर पर्यटक प्लेन के जरिए ही पहुंचते हैं. सर्दियों में इसका आंकड़ा भी काफी कम हो जाता है. ऐसे में ये सुरंग इस समस्या को भी दूर कर देगी.

खबर हटके | और पढ़ें


आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

जौनपुर, आपने खाने के शौक़ीन तो बहुत देखे होंगे, लेकिन हम आपको एक ऐसे अजीब इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी पसंद सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. जी हां, जौनपुर का एक शख्स पिछले पंद्रह सालों से प्रतिदिन मिट्टी के साथ चूना खाता चला आ रहा है....

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 139263