बड़ी ख़बरें

लखनऊ विश्वविद्यालय मामला : राज्यपाल से मिला सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल इस मामले में शाहरुख पर बिल्कुल भरोसा नहीं करतीं गौरी खान! तीसरे टी20 में रोहित शर्मा नहीं, 18 गेंदों ने किया इंग्लैंड का 'काम-तमाम'! थाईलैंडः बौद्ध भिक्षु रह चुका है गुफा में फंसा कोच, बच्चों को इतने दिन यूं रखा जिंदा ब्रिटेन में घर मेरे नाम पर नहीं, कोई इन्‍हें छू भी नहीं सकता: विजय माल्‍या कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या, योगी ने दिए न्यायिक जांच के आदेश बुरहान की दूसरी बरसी पर हिज्बुल में शामिल हुआ IPS ऑफिसर का भाई, मेडिकल की कर रहा था पढ़ाई नाम में क्‍या रखा है? इन आशा वर्कर्स से पूछिए जो इसी नाम का कंडोम बांटती हैं तो ऐसे प्रेम प्रकाश सिंह बन गया माफिया डॉन 'मुन्ना बजरंगी', ये अब तक की 'पूरी कहानी' द. कोरियाई राष्ट्रपति के साथ आज नोएडा आ रहे पीएम मोदी, देंगे सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री की सौगात

जम्मू, जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन के बाद गवर्नर एन.एन वोहरा ने आज सभी पार्टी प्रमुखों की एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इस बैठक में गवर्नर शासन के बाद राज्य की मौजूदा हालात के बारे में चर्चा की जाएगी. इसमें राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय सभी पार्टियों को बुलाया गया है. ये बैठक आज शाम को होगी.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में फिलहाल विधानसभा को भंग नहीं किया गया है. यानी किसी भी विधायक की सदस्यता अभी खत्म नहीं हुई है. लेकिन विपक्षी दल विधानसभा भंग करने की मांग कर रहे हैं. उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि बीजेपी यहां हॉर्स ट्रेडिंग यानी खरीद फरोख्त कर सकती है.

पिछले 4 दशक में यहां 8वीं बार राज्‍यपाल शासन लगा है. जबकि राज्यपाल एनएन वोहरा के कार्यकाल के दौरान यानी 2008 से लेकर अब तक यहां चौथी बार राज्‍यपाल शासन को मंजूरी मिली है. मौजूदा विधानसभा का छह साल का कार्यकाल मार्च 2021 में खत्म हो रहा है। बता दें, राज्यपाल एनएन वोहरा का भी कार्यकाल 25 जून को खत्म हो रहा है.

आपको बता दें कि  बीजेपी ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार के साथ तीन साल पुरानी दोस्ती तोड़ते हुए समर्थन वापस लेने का ऐलान किया था. बीजेपी चीफ अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के सभी बीजेपी नेताओं की राय जानी और फिर पार्टी ने सरकार से अलग होने का फैसला किया. जम्मू कश्मीर के बीजेपी इंचार्ज राम माधव ने कहा था कि अब आगे पीडीपी के साथ गठबंधन को जारी रखना संभव नहीं है.

दरअसल महबूबा मुफ्ती चाहती थीं कि घाटी में जारी सीज़फायर को रमज़ान के बाद भी बढ़ाया जाए. लेकिन दिल्ली में बीजेपी सरकार आतंकियों के बढ़ते हमलों की वजह से इसके लिए तैयार नहीं थी. इसलिए ईद खत्म होते ही केंद्र सरकार ने सीज़फायर को वापस लेने की घोषणा की.

खबर हटके | और पढ़ें


लखीमपुर खीरी, आपने पुलिस का असलहा गुम होते सुना होगा. वर्दी चोरी होते हुए सुनी होगी. गहने पैसे चोरी करते सुना होगा, पर पुलिस की पगार गुम होने की खबर...

आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क बनवा दी. गर्म चारकोल और कंक्रीट की वजह से कुत्ते की मौके पर ही जान चली गई. पुलिस ने कंस्ट्रक्शन...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 144308