बड़ी ख़बरें

लखनऊ विश्वविद्यालय मामला : राज्यपाल से मिला सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल इस मामले में शाहरुख पर बिल्कुल भरोसा नहीं करतीं गौरी खान! तीसरे टी20 में रोहित शर्मा नहीं, 18 गेंदों ने किया इंग्लैंड का 'काम-तमाम'! थाईलैंडः बौद्ध भिक्षु रह चुका है गुफा में फंसा कोच, बच्चों को इतने दिन यूं रखा जिंदा ब्रिटेन में घर मेरे नाम पर नहीं, कोई इन्‍हें छू भी नहीं सकता: विजय माल्‍या कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या, योगी ने दिए न्यायिक जांच के आदेश बुरहान की दूसरी बरसी पर हिज्बुल में शामिल हुआ IPS ऑफिसर का भाई, मेडिकल की कर रहा था पढ़ाई नाम में क्‍या रखा है? इन आशा वर्कर्स से पूछिए जो इसी नाम का कंडोम बांटती हैं तो ऐसे प्रेम प्रकाश सिंह बन गया माफिया डॉन 'मुन्ना बजरंगी', ये अब तक की 'पूरी कहानी' द. कोरियाई राष्ट्रपति के साथ आज नोएडा आ रहे पीएम मोदी, देंगे सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री की सौगात

नई दिल्ली, दिल्ली के बुराड़ी में रविवार को एक घर से 11 लाशें मिलने के मामले में क्राइम ब्रांच की जांच जारी है. इस मामले में एक के बाद एक कई पहलू सामने आ रहे हैं. पुलिस ने मौके से दो रजिस्टर बरामद किए हैं, जिनमें 11 मौतों की स्क्रिप्ट लिखी गई थी. परिवार के मुखिया के छोटे भाई ललित ने रजिस्टर में कुछ नोट्स लिखे थे.

क्राइम ब्रांच के मुताबिक, दोनों रजिस्टर्स में छोटे भाई ललित की हैंड राइटिंग लग रही है, जिसकी फर्नीचर की दुकान थी. दोनों रजिस्टर में कुछ ऐसी चीजें लिखी हैं, जो ढेरों सवाल खड़े करती हैं. रजिस्टर में लिखी एक-एक बातें वारदात से मेल खाती हैं.

ललित ने रजिस्टर के नोट्स में लिखा था, 'अंतिम समय में आखिरी इच्छा की पूर्ति के वक्त आसमान हिलेगा, धरती कांपेगी. उस वक्त तुम घबराना मत. मंत्रों का जाप बढ़ा देना. मैं आकर तुम्हे उतार लूंगा. औरों को भी उतारने में मदद करूंगा.' बताया जा रहा है कि ललित को सपने में उसके मरे हुए पिता दिखते थे. रजिस्टर में लिखी इन बातों का मतलब ये निकाला जा रहा है कि ये मैसेज ललित को उसके पिताजी ने दिया. ललित ने परिवार के बाकी 10 सदस्यों ऐसा ही करने को कहा.

रजिस्टर में लिखी बातों से काफी मिलती है घटना 
रजिस्टर में एक जगह लिखा है कि पट्टियां अच्छे से बांधनी हैं. बता दें कि घर से जितने शव बरामद हुए उनमें से एक को छोड़कर सबकी आंखों पर पट्टियां बंधी थी. रजिस्टर में लिखा है कि सात दिन बाद लगातार पूजा करनी है. कोई घर में आ जाए तो अगले गुरुवार या रविवार को चुनें. दिलचस्प है कि वारदात रविवार की रात हुई. रजिस्टर में लिखा है कि बेब्बे (दादी) खड़ी नहीं हो सकतीं तो अलग कमरे में लेट सकती हैं. बेब्बे शायद उस बुजुर्ग महिला को कहा गया है जिनकी लाश अलग कमरे में बरामद की गई. रजिस्टर में लिखा गया कि मद्धम रोशनी का प्रयोग करना है.

बताया जा रहा है कि परिवार किसी बाबा के चक्कर में था. बाबा से तंत्र-मंत्र की चीजें ली जाती थी. सूत्रों की मानें तो पुलिस को मौके से बरामद मोबाइल फोन से बाबा के सुराग मिले हैं. शक की सूई घूम फिरकर अंधविश्वास में मोक्ष प्राप्ति और जान देने की ओर जा रही है.

ललित का इतिहास खंगाल रही पुलिस
क्राइम ब्रांच अब ललित के पूरे जीवन का इतिहास खंगाल रही है. जैसे-
>ललित के कौन-कौन से दोस्त हैं?
>उसकी लाइफ स्टाइल कैसी थी?
>वह किसके सबसे ज्यादा करीबी था?
>वह किन-किन लोगों से मिलता था?
>ललित के अपने भाइयों-बहनों से कैसे रिश्ते थे? कोई मनमुटाव तो नहीं था?
>क्या ललित ही अपने पिता का सबसे लाडला बेटा था?
>उसके दिमाग में कब से ये ख्याल आया कि उसके पिता आते हैं या उसको दिखते हैं?
>ललित की आवाज कैसे गई, उसकी भी हर एंगल से जांच की जाएगी?
>क्राइम ब्रांच जरूरत पड़ने पर मनोचिकित्सक की मदद ले सकती है.

खबर हटके | और पढ़ें


लखीमपुर खीरी, आपने पुलिस का असलहा गुम होते सुना होगा. वर्दी चोरी होते हुए सुनी होगी. गहने पैसे चोरी करते सुना होगा, पर पुलिस की पगार गुम होने की खबर...

आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क बनवा दी. गर्म चारकोल और कंक्रीट की वजह से कुत्ते की मौके पर ही जान चली गई. पुलिस ने कंस्ट्रक्शन...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 144339