बड़ी ख़बरें

पंचतत्व में विलीन हुए महाकवि गोपालदास नीरज लखनऊ विश्वविद्यालय मामला : राज्यपाल से मिला सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल इस मामले में शाहरुख पर बिल्कुल भरोसा नहीं करतीं गौरी खान! तीसरे टी20 में रोहित शर्मा नहीं, 18 गेंदों ने किया इंग्लैंड का 'काम-तमाम'! थाईलैंडः बौद्ध भिक्षु रह चुका है गुफा में फंसा कोच, बच्चों को इतने दिन यूं रखा जिंदा ब्रिटेन में घर मेरे नाम पर नहीं, कोई इन्‍हें छू भी नहीं सकता: विजय माल्‍या कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या, योगी ने दिए न्यायिक जांच के आदेश बुरहान की दूसरी बरसी पर हिज्बुल में शामिल हुआ IPS ऑफिसर का भाई, मेडिकल की कर रहा था पढ़ाई नाम में क्‍या रखा है? इन आशा वर्कर्स से पूछिए जो इसी नाम का कंडोम बांटती हैं तो ऐसे प्रेम प्रकाश सिंह बन गया माफिया डॉन 'मुन्ना बजरंगी', ये अब तक की 'पूरी कहानी'

पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया को गुरुद्वारे जाने से रोका गया

नई दिल्ली, पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को गुरुद्वारे जाने से रोक दिया गया है. ये घटना शुक्रवार की है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बिसारिया को इस्लामाबाद के पास गुरुद्वारा पंजा साहिब का दौरा करने की अनुमति दी थी, लेकिन इसके बावजूद उन्हें गुरुद्वारे में नहीं जाने दिया गया. ये इस साल की दूसरी घटना है. इससे पहले इस साल अप्रैल में भी उन्हें गुरुद्वारा जाने से रोका गया था.

दरअसल शुक्रवार को बिसारिया का जन्मदिन था. इस मौके पर वह अपनी पत्नी के साथ सारे डॉक्यूमेंट्स लेकर प्रार्थना के लिए गुरुद्वारे गए थे, लेकिन उन्हें अपनी गाड़ी से ही उतरने नहीं दिया गया.

आपको बता दें कि बिसारिया को इस साल अप्रैल में भी गुरुद्वारा पंजा साहिब जाने से रोका गया था. उस वक्त उन्हें इवैक्यू ट्रस्ट प्रॉपर्टी (ETPB) के चेयरमैन ने गुरुद्वारे आने का न्योता दिया था. लेकिन पाकिस्तानी अधिकारियों ने 'सुरक्षा चिंताओं' का हवाला देते हुए अजय बिसारिया को गुरुद्वारे में जाने से रोक दिया था.

इतना ही नहीं इसी साल भारतीय दूतावास की एक टीम को भी यहां जाने नहीं दिया गया था. इस टीम को गुरुद्वारे में सिख तीर्थयात्रियों के एक जत्थे से मिलना था. बाद में इस घटना पर भारत सरकार ने विरोध दर्ज कराया था.

भारत और पाकिस्तान दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ राजनयिकों के उत्पीड़न के दावे किए हैं. भारत इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त में काम कर रहे अपने अधिकारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पाकिस्तान से कई बार कह चुका है.

22 मार्च को भारत ने पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय को 16वां नोट वर्बल (विरोध पत्र) लिखा था. इसके तहत भारत ने उच्चायोग के वरिष्ठ अधिकारियों के उत्पीड़न की तीन घटनाओं का उल्लेख किया था.

जवाब में पाकिस्तान ने दावा किया था कि उनके उच्चायोग के अधिकारियों के साथ 7 मार्च से अब तक उत्पीड़न की 26 घटनाएं हुई हैं. इसके बाद पाकिस्तान ने अपने हाई कमिश्नर को बातचीत के लिए इस्लामाबाद बुलाया था.

इसी साल 5 अप्रैल को विदेश मामलों के राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा था कि दोनों देश 1992 के कोड ऑफ कंडक्ट के तहत एक दूसरे के राजनयिकों के साथ व्यवहार करने के लिए तैयार हो गए है.

खबर हटके | और पढ़ें


लखीमपुर खीरी, आपने पुलिस का असलहा गुम होते सुना होगा. वर्दी चोरी होते हुए सुनी होगी. गहने पैसे चोरी करते सुना होगा, पर पुलिस की पगार गुम होने की खबर...

आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क बनवा दी. गर्म चारकोल और कंक्रीट की वजह से कुत्ते की मौके पर ही जान चली गई. पुलिस ने कंस्ट्रक्शन...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 145229