बड़ी ख़बरें

योगी सरकार के मंत्री ने सड़क बनाने के लिए खुद ही उठा लिया 'फावड़ा' पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया को गुरुद्वारे जाने से रोका गया इस बैंक को बेच रही है सरकार, जानिए कौन है खरीदार हापुड़ लिंचिंग का दूसरा वीडियो, बीच सड़क घायल की पिटाई और दाढ़ी नोचते दिखे लोग एटा : फूड प्‍वाइजनिंग से 2 की मौत, 28 से ज्‍यादा अस्‍पताल में भर्ती कांस्टेबल बोला- हमने नहीं दी परिवार बढ़ाने के लिए चिट्ठी, SP ने दिए जांच के निर्देश PCS-2015 के चयनित अफसरों को सीबीआई ने किया दिल्ली तलब मिशन 2019 में जुटा RSS, बीजेपी की जीत के लिए बनाई ये रणनीति US को अब भी है नॉर्थ कोरिया से खतरा! ट्रंप ने एक साल के लिए बढ़ायी इमरजेंसी ईद पर लोगों से गले मिलने वाली अलीशा ने मांगी माफी, कहा- घर से बाहर निकलना हुआ दूभर

G7 पर ट्रंप के ट्वीट से भड़का जर्मनी, कहा- यूरोप को अपना भाग्य अपने हाथ में लेना पड़ेगा

फ्रैंकफर्ट एम मेन: जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल ने सोमवार (11 जून) को कहा कि जी7 सम्मेलन में शामिल अन्य देश के नेताओं की ओर से जारी संयुक्त आधिकारिक बयान को समर्थन नहीं देने का अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट ‘निराशाजनक’ है और इस पर गंभीरता से सोचे जाने की जरूरत है.

मर्केल ने एआरडी टीवी को दिए साक्षात्कार में कहा, 'हमने प्रमुख मुद्दों पर गंभीरता से बात की. हमारे बीच सहमति बनी और फिर राष्ट्रपति ट्रंप ने जिस तरह से एक ट्वीट के जरिए अपना सहयोग वापस ले लिया, वह बेहद निराशाजनक रहा.' मर्केल ने कहा कि यूरोप को अपना भाग्य अपने हाथ में लेना पड़ेगा. उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति क्यूबेक से जल्दी रवाना हो गए थे. क्यूबेक में जी7 का शिखर सम्मेलन हो रहा था.

इससे पहले जर्मनी के विदेश मंत्री मेको मास ने रविवार (10 जून) को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जी- 7 सम्मेलन के बाद एक संयुक्त बयान से पीछे हट कर यूरोप के साथ विश्वसनीय संबंध को तार-तार कर दिया. मास ने कहा कि आप महज एक ट्वीट कर बहुत तेजी से विश्वास खो देते हैं. गौरतलब है कि ट्रंप ने आमराय वाले एक बयान के शब्दों को खारिज कर दिया था, जिसमें कहा गया था, ‘‘एकजुट यूरोप अमेरिका फर्स्ट का जवाब है. ’’ ट्रंप के इस कदम की रविवार(10 जून) को जर्मनी के राजनीतिक गलियारों में व्यापक निंदा की गई.

वहीं दूसरी ओर, वॉशिंगटन से प्राप्त खबर के मुताबिक व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार लैरी कुदलोव ने रविवार (10 जून) को कहा कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूदो ने जी - 7 सम्मेलन में हमारी पीठ में छुरा घोंपा. कुदलोव ने कहा कि अमेरिका को जस्टिन द्वारा संवाददाता सम्मेलन में दिए बयान पर ऐतराज है. उन्होंने कहा कि हम सद्भावना के साथ बयान में शामिल हुए थे. हालांकि, इसके बाद ट्रंप ने ट्वीट किया कि उन्होंने अमेरिकी प्रतिनिधियों को बयान को मंजूरी नहीं देने का निर्देश दिया है.

खबर हटके | और पढ़ें


आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

जौनपुर, आपने खाने के शौक़ीन तो बहुत देखे होंगे, लेकिन हम आपको एक ऐसे अजीब इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी पसंद सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. जी हां, जौनपुर का एक शख्स पिछले पंद्रह सालों से प्रतिदिन मिट्टी के साथ चूना खाता चला आ रहा है....

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 139275