बड़ी ख़बरें

अंतरिक्ष मिशन लेकर अर्थव्यवस्था तक, लाल किला से पीएम मोदी के भाषण की बड़ी 10 बातें स्वतंत्रता दिवस: 9 करोड़ पौधे लगाकर इतिहास रचने की तैयारी में उत्तर प्रदेश स्वतंत्रता दिवस पर योगी सरकार ने किया मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पुलिस पदक का ऐलान आजादी का 72वां साल: क्यों शहीद घोषित नहीं हो सके भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु! पीएम मोदी ने लाल किले से दी खुशखबरी- 2022 तक अंतरिक्ष में होंगे भारतीय पूर्णिया देश की दूसरी ऐसी जगह, जहां आधी रात में फहराया जाता है तिरंगा यूपी के सबसे बड़े स्कूल CMS में रेप जैसी वरदात, छात्रों ने किया स्कूल के बाहर प्रदर्शन पंचतत्व में विलीन हुए महाकवि गोपालदास नीरज लखनऊ विश्वविद्यालय मामला : राज्यपाल से मिला सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल इस मामले में शाहरुख पर बिल्कुल भरोसा नहीं करतीं गौरी खान!

पड़ोसी के छत पर मिला डेढ़ साल से अपहृत बच्चे का कंकाल

गाजियाबाद, गाजियाबाद में एक घर की छत पर एक बॉक्स में हुई बच्चे की लाश मिली है. दरअसल इस घर के पड़ोस में रहने वाला चार साल का जायद पिछले डेढ़ साल से गायब था. इस मामले में अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया था और अपहरण के आरोप में दो लोगों को जेल भी भेजा गया था लेकिन पुलिस को बच्चे की लाश नहीं मिल पाई थी.

रविवार को गरिमागार्डन के इस घर में बच्चे की लाश मिली है. लाश कंकाल में तब्दील हो चुकी है. पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है. सबसे ज्यादा हैरान करने वाला मामला यह है कि लंबे समय से एक घर की छत पर लकड़ी के बॉक्स में लाश रखी हुई थी और घर के लोगों को कानों-कान खबर तक नहीं हुई.

गाजियाबाद के साहिबाबाद का यह घर देखिए. इस घर में कुछ मेंबर भी मौजूद हैं. पिछले डेढ़ साल से तीन बच्चों के परिवार वाले इस घर की छत पर चार साल के एक मासूम की लाश बक्से में बंद थी लेकिन इस परिवार को पता तक नहीं चला. इस परिवार के पड़ोस में रहने वाले जायद की थी जिसका दिसंबर 2016 में अपहरण कर लिया गया था. जायद के पड़ोस के घर की छत पर रविवार को एक लकड़ी के बॉक्स में उसकी लाश मिली.

सबसे बड़ा सवाल, किसी को बदबू तक क्यों नहीं आई

मामले में दो अपहरणकर्ता जेल में हैं लेकिन रविवार को जब लाश सामने आई, तो सवाल यह खड़ा हो गया कि लंबे समय से पड़ोस के घर की छत पर जायद की डेड बॉडी लकड़ी के बॉक्स में थी, तो किसी को बदबू तक क्यों नहीं आई. उस घर की छत पर जाकर हमने जायजा लिया जहां से लाश मिली है. आप भी सोच रहे होंगे कि मामला कुछ-कुछ आरुषि कांड जैसा है.

क्या घर में रहने वाले लोगों को इस बात की भनक नहीं लगी होगी कि उनके घर की छत पर लाश रखी हुई है. वह भी एक दिन पुरानी नहीं बल्कि इतनी पुरानी लाश जो कंकाल में तब्दील हो चुकी है . इस घर की मालकिन सायरा बानो ने कहा कि उन्हें लाश के बारे में बिल्कुल भी इल्म नहीं था. नवंबर 2016 में इनके घर में शादी हुई थी. उसके बाद छत के ऊपरी हिस्से में लकड़ी का कुछ सामान रख दिया गया था. तब से लेकर अब तक परिवार के लोग उस सामान को देखने तक नहीं गए थे.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ होगा कि मौत कैसे हुई?
पुलिस तमाम पहलुओं पर अपनी जांच-पड़ताल को आगे बढ़ाएगी लेकिन जिसने भी इस घटना को सुना है, वह हैरान है. इलाके के लोगों से भी हमने बात की, तो उनका कहना है कि कभी भनक तक नहीं लगी कि जायद के पड़ोस वाले घर की छत पर मासूम बच्चे की लाश रखी हुई है.

रमजान के दिनों में बच्चे के मां-बाप यही दुआ कर रहे थे कि कम से कम उनका मासूम उनको वापस मिल जाए लेकिन इस सूरत और शक्ल में मिलेगा, किसी ने सोचा नहीं था. इस बात के भी कयास लगाए जा रहे हैं कि बच्चा खेलते वक्त छत पर चला गया होगा और उस बक्से में छुप गया होगा लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही यह साफ हो पाएगा कि बच्चे की मौत कब और कैसे हुई थी.

खबर हटके | और पढ़ें


लखीमपुर खीरी, आपने पुलिस का असलहा गुम होते सुना होगा. वर्दी चोरी होते हुए सुनी होगी. गहने पैसे चोरी करते सुना होगा, पर पुलिस की पगार गुम होने की खबर...

आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क बनवा दी. गर्म चारकोल और कंक्रीट की वजह से कुत्ते की मौके पर ही जान चली गई. पुलिस ने कंस्ट्रक्शन...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 150972