बड़ी ख़बरें

राज्यसभा उप-सभापति पद के लिए कांग्रेस नेता ने की ममता बनर्जी से मुलाकात मायावती विपक्षी एकजुटता से अलग क्‍या अकेले चुनाव लड़ने का मन बना रही हैं? तालिबान ने संघर्षविराम आगे बढ़ाने से इंकार किया, आत्मघाती हमले में 18 की मौत तबाही मचाने के लिए सऊदी अरब ने दागी मिसाइल, दुश्मन देश ने रास्ते में किया नेस्तनाबूद फिल्म 'रेस 3' पर बना एक और VIDEO, हंस-हंसकर हो जाएंगे लोटपोट हनी सिंह के गाने पर इस छोटी सी बच्ची का डांस हो रहा वायरल, क्या आपने देखा VIDEO? 'विरुष्का' पर भड़कीं अरहान सिंह की मां, कहा- पब्लिसिटी के लिए किया स्टंट श्रीलंकाई कप्तान चांडीमल पर गेंद से छेड़छाड़ का आरोप, ICC ने पाया दोषी आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स, देशभर के कारोबार पर पड़ सकता है असर फिर बढ़ेंगी विजय माल्या की मुश्किलें, एक और चार्जशीट दायर करने की तैयारी में ED

प्रणब मुखर्जी पर हरीश रावत ने साधा निशाना, बोले- 'संघ की सोच स्वीकार नहीं'

नई दिल्ली: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गुरुवार को (7 जून) को आरएसएस के कार्यक्रम में शिरकत किया. प्रणब मुखर्जी का आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होना कांग्रेस को पसंद नहीं आया. उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि प्रणब दा हमेशा संघ की विचारधारा के विरोधी रहे हैं और कांग्रेस के बुराड़ी अधिवेशन में प्रणब मुखर्जी ने संघ की सोच के खिलाफ प्रस्ताव भी पारित किया था. ऐसे में उनका नागपुर जाकर संघ के कार्यक्रम में शामिल होना आघात पहुंचाने वाला है. 

RSS का असली चेहरा सबके सामने
आपको बता दें कि कांग्रेस नेता हरीश रावत ने पहले भी प्रणब मुखर्जी के कार्यक्रम में शिरकत करने को लेकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. उन्होंने कहा था कि आरएसएस का असली चेहरा अब सबके सामने हैं. देश के लोकतांत्रिक परंपराओं, संविधानिक परंपराओं सभी पर आरएसएस ने प्रहार किया है. आरएसएस का सामाजिक और सांस्कृतिक मुखौटा अब उतर चुका है. 

'बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ' 
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में पहुंचने के बाद कांग्रेस ने कहा कि संघ मुख्यालय में 'वरिष्ठ नेता और विचारक' की तस्वीरें देखकर पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं और भारतीय गणराज्य के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ है. कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने ट्वीट कर कहा, 'वरिष्ठ नेता और विचारक प्रणब मुखर्जी की आरएसएस मुख्यालय में तस्वीरों से कांग्रेस के लाखों कार्यकर्ता और भारतीय गणराज्य के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वाले लोग दुखी हैं.' 

आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी को आरएसएस ने अपने स्वयंसेवकों के तीसरे साल के प्रशिक्षण वर्ग के समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाया था. पूर्व राष्ट्रपति ने अपने संबोधन की शुरुआत में ही कह दिया कि वो राष्ट्र, राष्ट्रवाद और देशभक्ति पर बोलेंगे. इन तीनों मुद्दों पर प्रणब मुखर्जी ने खुलकर अपनी बातें कहीं.

खबर हटके | और पढ़ें


आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

जौनपुर, आपने खाने के शौक़ीन तो बहुत देखे होंगे, लेकिन हम आपको एक ऐसे अजीब इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी पसंद सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. जी हां, जौनपुर का एक शख्स पिछले पंद्रह सालों से प्रतिदिन मिट्टी के साथ चूना खाता चला आ रहा है....

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 135744