बड़ी ख़बरें

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, शोक में डूबा देश एम्स में पूर्व PM वाजपेयी को देखने पहुंचे वेंकैया नायडू-अमित शाह, हालत बेहद नाजुक अटल बिहारी वाजपेयी को देखने AIIMS पहुंच सकते हैं सीएम योगी आदित्यनाथ देवरिया शेल्‍टर होम: SP देवरिया के साथ हटाए गए CO सदर, विभागीय जांच के आदेश बरेली समेत तीन एयरपोर्ट के नाम बदलने की तैयारी में योगी सरकार, केन्द्र को भेजा प्रस्ताव लखनऊ के बाद सोनभद्र को मिला यूपी का दूसरा सबसे ऊंचा राष्ट्रध्वज अंतरिक्ष मिशन लेकर अर्थव्यवस्था तक, लाल किला से पीएम मोदी के भाषण की बड़ी 10 बातें स्वतंत्रता दिवस: 9 करोड़ पौधे लगाकर इतिहास रचने की तैयारी में उत्तर प्रदेश स्वतंत्रता दिवस पर योगी सरकार ने किया मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पुलिस पदक का ऐलान आजादी का 72वां साल: क्यों शहीद घोषित नहीं हो सके भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु!

अयोध्या, आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज की आत्महत्या पर अयोध्या के संतों ने अपनी मिलीजुली प्रतिक्रिया जाहिर की है. किसी ने कहा कि शायद अपराध बोध की वजह से यह कदम उठाया गया, तो किसी की राय थी कि उनके कर्मों का फल उन्हें मिला.

रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि आत्महत्या का कारण कोई न कोई जरूर था. यह रहस्य है और जिस तरह से भय्यू जी का जीवनवृत्त रहा उससे संदेह और भी बढ़ जाता है. कहीं ना कहीं उन्हें सामाजिक अपराध का बोध जरुआ हुआ होगा, तभी उन्होंने आत्महत्या जैसे घृणित कार्य किया. इसकी जांच होनी चाहिए कि आखिर वह रहस्य क्या है?

उन्होंने कहा कि यह भी पता चला है कि आत्महत्या से पहले एक महिला उनसे मिलने पहुंची थी. हो सकता है उसी ने कोई धमकी दी हो. उस महिला की खोज हो रही है. उस महिला से ही पता चलेगा कि उनके ऊपर क्या आरोप थे और उन्होंने क्यों ऐसा कदम उठाया.

वहीं, दूसरी तरफ संत समिति के महामंत्री आचार्य पवन दास शास्त्री ने कहा कि भय्यूजी महाराज का जीवनवृत विलासितापूर्ण रहा है. वे संप्रदाय सिद्ध संत भी नहीं थे. न जाने किन लोगों ने उन्हें संत की उपाधि दे दी. उन्हें जरूर अपराधबोध हुआ होगा जिसके कारण इस तरह का कदम उठाना पड़ा.

शास्त्री ने कहा कि मनुष्य को उसके कर्मों का फल यहीं मिलता है. अच्छे और बुरे कर्मों का फल भी यहीं भोगना पड़ता है. भय्यू जी को भी अपने कर्मों का फल मिला.

खबर हटके | और पढ़ें


त्य्र

...

फ्द्ग्फ्ग्द

...

ग्ज्ग्फ्ज

...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 151212