बड़ी ख़बरें

अखिलेश ने भाजपा की केंद्रीय सरकार को दिया ये ‘खास नाम’ उद्धव ने जारी किया CM फडणवीस का टेप, बीजेपी बोली- क्लिप से हुई छेड़छाड़ OPINION | चार साल में मजबूत हुआ ब्रांड मोदी पर अब भी है अच्छे दिन का इंतजार पंचकुला दंगे के पीछे था खुद राम रहीम का हाथ, अब चलेगा देशद्रोह का मुकदमा मेरठ की किनौनी शुगर मिल में विस्‍फोट, चार लोगों के मारे जाने की आशंका मोदी सरकार ने विकास के हर काम को धर्म और जाति से ऊपर उठकर देखा: CM योगी CBSE 12th result 2018: यूपी में मेघना, अनुष्का और बलबीर ने किया टाॅप PM मोदी के 4 साल पूरे होने पर बोलीं मायावती, हर मोर्चे पर फेल हुई केंद्र सरकार CBSE 12th Result 2018: आज आएगा बारहवीं का रिजल्ट, ऐसे करें cbse.nic.in पर चेक आयरलैंडः भारतीय महिला की मौत के 6 साल बाद गर्भपात कानून बदलने के लिए हुई वोटिंग

आईएससी बोर्ड में देश की टॉपर लखीमपुर खीरी की बिटिया लिपिका अग्रवाल के नाम से उनके मोहल्ले की सड़क का नाम रखा जाएगा. योगी सरकार ने बच्चों में प्रतिस्पर्धा के लिए ये योजना चलाई है. लिपिका के घर मिलने गए डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह ने ये घोषणा की. वैसे लिपिका सोशल मीडिया से कोसों दूर है. वह न ट्विटर पर है, न फेसबुक पर, न इंस्टाग्राम पर यही नहीं लिपिका व्हाट्सएप्प भी नहीं यूज करतीं. लिपिका को शौक है तो बस नॉवेल पढ़ने का, वह भी पढ़ाई से समय मिलने के बाद. खीरी जिले के लखनऊ पब्लिक स्कूल की छात्रा लिपिका को न मूवी बहुत पसंद हैं, न सोशल मीडिया का क्रेज. उसे तो बस नावेल पढ़ना पसन्द है.

आईएससी बोर्ड में लिपिका अग्रवाल ने देश में टॉप किया है. लिपिका को 99.5 फीसदी नम्बर मिले हैं. लिपिका का भाई हर्षवर्धन अग्रवाल भी बिट्स पिलानी से इंजीनियरिंग कर रहे हैं. 5 से 6 घंटे तक नियमित पढ़ाई करने वाली लिपिका के पसंदीदा नावेल राइटर अमिश त्रिपाठी हैं. लिपिका कहती हैं कि हाईस्कूल में फेसबुक चलाया था, पर पढ़ाई में डिस्टर्ब हुआ तो छोड़ दिया. तब से अब तक लिपिका ने इंटरनेट का प्रयोग जरूर नोट्स बनाने में किया. लिपिका के पिता प्लाईवुड फैक्ट्री के मालिक हैं. मां शानू अग्रवाल हाउसवाइफ हैं. पर दोनों ने बिटिया की पढ़ाई के लिए घर में माहौल बनाया.

खुशी से चहकते हुए लिपिका कहती हैं,'मां पापा और भाई तीनों का सपोर्ट रहा. 97 परसेंट का भरोसा तो था कि आएंगे ही. पर इतने नम्बर पर नो वर्ड्स.' बेटी की सफलता पर माता-पिता के पास फोन पर बधाइयों का सिलसिला चल रहा है. नाते रिश्तेदार दोस्त बधाई दे रहे हैं. मीडिया वाले नम्बर ढूंढ-ढूंढ फोन किए जा रहे हैं. फोटोग्राफर्स में फोटो लेने की होड़ लगी है. पिता बिटिया की सफलता से इतने खुश हैं कि आंखों मे खुशी के आँसू हैं. कहते हैं,'बिटिया ने सर ऊंचा कर दिया. गला रुंध जाता है. शब्द गले में अटक जाते हैं.' मां शानू अग्रवाल भी खुशी से लबरेज हैं. भाई हर्षवर्धन कहते हैं,'सी इज वेरी स्टूडियस, वी आर प्राउड आफ हर.'

लिपिका बायो स्ट्रीम से पढ़ाई कर रही हैं. अब डॉक्टर बन देश की सेवा करना चाहती हैं. कहती हैं कि मुझे बचपन से बीमारियों को जानने का शौक है. डॉक्टरी से ही जनसेवा करूंगी. इससे बड़ी देश सेवा और कोई नहीं हो सकती इसीलिए डॉक्टरी को कॅरियर के रूप में चुनां है. लिपिका ने नीट की परीक्षा भी दी है. आॅल इंडिया की तैयारी कर रही हैं. कहती हैं पूरा विश्वास है सेलेक्शन होगा. अपनी सफलता का श्रेय लिपिका अपने मां-बाप भाई और स्कूल स्टाफ को देती हैं. एलपीएस के प्रिंसिपल अरविंद वर्मा भी अपनी स्टूडेंट की इतनी बड़ी सफलता पर गदगद हैं. कहते हैं,'लिपिका स्टूडियस है,फोकस्ड है, सिर्फ पढ़ाई, पढ़ाई, पढ़ाई ही उसके मन में बसी रहती है. मेरे जीवन की सबसे बड़ी सफलता है ये.'

लिपिका देश के एजुकेशन सिस्टम और पॉलिटिकल सिस्टम में थोड़ा अमेंडमेंट चाहती हैं कहती हैं एजुकेशन क्रिएटिविटी आधारित हो और पालिटिक्स को एजुकेशन से न जोड़ा जाए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लिपिका के फेवरेट पॉलिटिकल लीडर हैं.

खबर हटके | और पढ़ें


त्य्र

...

फ्द्ग्फ्ग्द

...

ग्ज्ग्फ्ज

...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 130644