बड़ी ख़बरें

आपातकाल विशेष : ...जब प्रधानमंत्री इंदिरा को लगने लगा था 'डर', और मंत्रियों को सताने लगा था गिरफ्तारी का 'खौफ' योगी सरकार पर हमलों में 'लिपटीं' ओम प्रकाश राजभर की चुनावी तैयारियां मुजफ्फरनगर: कबाड़ की दुकान में भीषण विस्फोट, 4 की मौत CM योगी का अयोध्या दौरा, कार्यक्रम स्थल पर लगी 'केसरिया' कुर्सियां पाकिस्तान के नंबरों से आ रहे PORN मैसेज, महिला पहुंची SSP के पास लोकसभा चुनाव से पहले सरकार करती है ज्यादा खर्च, जानें क्या कहते हैं आंकड़े देवगौड़ा की कुमारस्वामी को सलाह, 'कावेरी मुद्दे पर न करें सुप्रीम कोर्ट या केंद्र का विरोध' पासपोर्ट विवादः सुषमा स्वराज ने लाइक किए आलोचकों के ट्वीट, कहा- 'ऐसा सम्मान मिला' AMU और जामिया में दलितों को आरक्षण की वकालत नहीं करता विपक्ष: सीएम योगी मेरठ में सिरफिरे ने की ताबड़तोड़ फायरिंग

लखनऊ, श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में देरी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अयोध्या से दूरी पर नाराज संतों और धर्माचार्यों के विरोधी सुर मुखर होने लगे हैं. मंदिर मुद्दे पर प्रधानमंत्री की ख़ामोशी संत-धर्माचार्य और हिंदू संगठनों को खटकने लगी है. यही वजह है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या के संतों से गुरुवार को लखनऊ में मिलेंगे.

इस मुलाकात के दौरान राम मंदिर निर्माण से लेकर घाघरा का नाम बदलकर सरयू करने जैसी मांग रखी जाएगी. हालांकि मुख्य मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ साधु-संतों की लामबंदी ही रहेगा.

मुख्यमंत्री संतों से करीबी माने जाते हैं. लिहाजा अब संतों को मनाने का जिम्मा उन्हें सौंपा गया है. दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के संतों से मुलाकात करने के लिए लखनऊ आवास पर गुरुवार सुबह नौ बजे आमंत्रित किया है. इस मुलाकात में रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, बड़ाभक्त महल के महंत अवधेश दास, राम बल्लभा कुंज के अधिकारी राजकुमार दास, महंत डॉ. भरत दास समेत अन्य शामिल होंगे.

दरअसल, काशी में मोदी के बार-बार आने, लेकिन अयोध्या से दूरी बनाए रखने पर संत सवाल उठा रहे हैं. राजनीति के जानकार इसे आने वाले लोकसभा चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं. हाल के दिनों में श्रीरामजन्म भूमि न्यास और श्री कृष्ण जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के बयान भी मोदी सरकार के प्रति तल्ख हुए हैं.

उधर दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास ने स्पष्ट चेतावनी दी है कि लोकसभा चुनाव से पहले राममंदिर नहीं बना तो बीजेपी की हार तय है. संतों का कहना है कि केंद्र और प्रदेश दोनों जगह बीजेपी सरकार है, बावजूद इसके राममंदिर निर्माण में देरी हो रही है, जबकि मंदिर निर्माण पार्टी के एजेंडे में है. वहीं राम मंदिर निर्माण में देरी पर संतों के तल्ख रुख से बीजेपी परेशान नजर आ रही है.



खबर हटके | और पढ़ें


आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

जौनपुर, आपने खाने के शौक़ीन तो बहुत देखे होंगे, लेकिन हम आपको एक ऐसे अजीब इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी पसंद सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. जी हां, जौनपुर का एक शख्स पिछले पंद्रह सालों से प्रतिदिन मिट्टी के साथ चूना खाता चला आ रहा है....

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 139556