बड़ी ख़बरें

बीजेपी हेडक्वार्टर लाया गया वाजपेयी का पार्थिव शरीर, शाम 4 बजे होगा अंतिम संस्कार अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में सुप्रीम कोर्ट में आज 1 बजे तक ही होगा कामकाज 7 दशक तक लखनऊ की 'रगों' में 'बहते' रहे अटल, हर सड़क पर बिछी हैं यादें अटल जी के निधन के शोक में आज यूपी में सार्वजनिक अवकाश, बाजार भी रहेंगे बंद पाकिस्‍तान भी होगा अटल जी के अंतिम संस्‍कार में शामिल, यह नेता करेगा शिरकत भारत-पाक संबंधों के सुधार के लिए वाजपेयी जी के प्रयासों को हमेशा याद किया जाएगा : इमरान खान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, शोक में डूबा देश एम्स में पूर्व PM वाजपेयी को देखने पहुंचे वेंकैया नायडू-अमित शाह, हालत बेहद नाजुक अटल बिहारी वाजपेयी को देखने AIIMS पहुंच सकते हैं सीएम योगी आदित्यनाथ देवरिया शेल्‍टर होम: SP देवरिया के साथ हटाए गए CO सदर, विभागीय जांच के आदेश

लखनऊ, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव् ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मगहर दौरे पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा और संघ अपने निजी राजनीतिक स्वार्थ के लिए देश के महापुरूषों का इस्तेमाल करने में भी संकोच नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह दुःख और क्षोभ की बात है कि जाति-धर्म से ऊपर उठकर अंधविश्वासों पर गहरी चोट करने वाले संत कबीर के माध्यम से देशभर में फैले उनके करोड़ो अनुयायियों को अपना वोट बैंक बनाने और इसी बहाने बुनकरों तथा अति पिछड़ों का समर्थन जुटाने का भोंडा प्रयास बीजेपी और संघ के दवारा 500वें निर्वाण दिवस पर मगहर में किया गया है।

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा की संपूर्ण राजनीति और नीति-कार्यक्रम सब सत्ता के इर्द-गिर्द घूमते हैं। सन् 2019 में केन्द्र में अपनी सत्ता की वापसी के लिए भाजपा-संघ कुछ भी करने को तैयार हैं। इसमें वे उचित-अनुचित, सही-गलत का कोई भेद नहीं करते हैं। समाज को तोड़कर जाति-धर्म का उन्माद पैदा कर और जनजीवन में आतंक फैलाकर भी सत्ता पाने में भाजपा -संघ को गुरेज नहीं है।  
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा संत कबीर दास ने अपने समय की तमाम कुरीतियों पर चोट की थी। उन्होंने धर्म के नाम पर, मंदिर-मस्जिद के नाम पर, समाज में विभेद पैदा करने वाली ताकतों पर कड़ा प्रहार किया था। वे स्पष्ट कहते थे ‘ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंड़ित होय‘। हिन्दू-तुर्क उनके लिए एक समान थे। उनका दर्शन सामाजिक सद्भाव-सौहार्द और सबको गले लगाने का है। समाजवादी पार्टी परस्पर सहयोग, बिना जाति-धर्म के भेदभाव के सबको सम्मान एवं अधिकार देने का काम करती है और राजनीति को सेवा का माध्यम मानती है। भाजपा को इन सबसे चिढ़ है और वह नफरत तथा सांप्रदायिकता का जहरीला व्यापार करती है। कितने अफसोस की बात है कि संत कबीर के निर्वाण दिवस और 620वें प्राकट्य दिवस पर प्रधानमंत्री जी कबीर दास को श्रद्धांजलि देने के नाम पर विपक्ष मूलतः समाजवादी दल पर निशाना साधते रहे। 

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा जानती है सपा, बसपा की एकता उन्हें इस बार केन्द्र में बैठने नहीं देगी। भले ही वे अपने मुंह मियां मिटठू बने रहें। वे मगहर कबीर दास जी के लिए नहीं, उनके बहाने अपने चुनाव के लिए वोट बटोरने गए हैं। अच्छा होता वे कबीरदास जी के दर्शन से प्रेरणा लेते, अपनी आत्मशुद्धि करते और नफरत की राजनीति से तौबा करते। कबीर को पढ़ लेते तो भेदभाव का रास्ता नहीं अपनाते। तब देश में असहिष्णुता और समाज के एक बड़े वर्ग में दहशत नहीं होती। समाजवादी पार्टी कानून का राज चाहती है और न्यायालय का सम्मान करती है। भाजपा को लोकतंत्र से परहेज है और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने की आदत है।



खबर हटके | और पढ़ें


लखीमपुर खीरी, आपने पुलिस का असलहा गुम होते सुना होगा. वर्दी चोरी होते हुए सुनी होगी. गहने पैसे चोरी करते सुना होगा, पर पुलिस की पगार गुम होने की खबर...

आगरा, उत्तर प्रदेश के आगरा में सड़क निर्माण में भयंकर लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारियों ने एक सोते हुए कुत्ते के ऊपर ही सड़क बनवा दी. गर्म चारकोल और कंक्रीट की वजह से कुत्ते की मौके पर ही जान चली गई. पुलिस ने कंस्ट्रक्शन...

फैजाबाद, फैजाबाद जिला अस्पताल की एक तस्वीर हम आपको दिखाते हैं जिसको देखकर आपको लगेगा कि मानवों में भले ही मानवता कम होती जा रही है लेकिन मवेशियों में मानवता अभी भी बरकरार है. फैजाबाद जिला अस्पताल के जनरल वार्ड के सामने पड़े एक घायल पर आने जाने वाले लोगों...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 31782