बड़ी ख़बरें

समाजवादी पार्टी देश की सबसे अमीर क्षेत्रीय पार्टी, 32 दलों को पछाड़ा मदरसों में होगी NCERT पाठ्यक्रम से पढ़ाई, अब हिंदी-अंग्रेजी की भी तालीम योगी के विधायक के पास दुबई से आया मैसेज, मांगी गई 10 लाख की रंगदारी पीएम मोदी की बागपत सभा पर चुनाव आयोग पहुंची RLD, तत्काल रोक की मांग मंत्री राजभर के बेटे ने कहा, 'सरकार बनी तो रेप करने वाले का कटवा दूंगा हाथ!' केरल के एक कुएं से फैला निपाह वायरस! कर्नाटक में भी मिले दो संदिग्ध मरीज देवगौड़ा ने उद्धव ठाकरे को शपथ समारोह में बुलाया, वे बोले- उपचुनाव में बिजी हूं पटरियों के रास्ते दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने लगा शख्स, बाल-बाल बची जान शार्दुल को बैटिंग पर भेजने के पहले धोनी ने दिया था ये गुरुमंत्र और हो गया कमाल आज से शुरू करें ये 8 काम, बढ़ती महंगाई में भी नहीं होगी पैसों की टेंशन

मुंबई: मेजबान मुंबई और खराब फॉर्म से जूझ रही पंजाब आईपीएल 2018 के 'करो या मरो' के मुकाबले में आज (16 मई) जब आमने-सामने होंगी तो दोनों के लिए टूर्नामेंट में अस्तित्व बचाने का यह आखिरी मौका होगा. लगातार हार के बाद अंतिम चार में पहुंचने की मुंबई की उम्मीदें प्रबल हो गई थी जब उसने लगातार तीन जीत दर्ज की लेकिन रविवार को राजस्थान से मिली हार उसके लिए घातक साबित हुई. मुंबई अब 12 में से पांच मैच जीतकर छठे स्थान पर है. वहीं, पंजाब पांच मैचों में चौथी हार झेलने के बाद 12 अंक के साथ पांचवें स्थान पर है. मुंबई को राजस्थान से मिली हार को भुलाकर आज अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. शानदार शुरूआत करने वाली पंजाब की टीम बीच में लय खो बैठी है और इसका उसे खामियाजा भुगतना पड़ रहा है.

पिछले मैच में भी कप्तान रोहित शर्मा समेत मुंबई के मध्यक्रम के बल्लेबाज बुरी तरह नाकाम रहे. अभी तक सिर्फ सूर्यकुमार यादव ही लगातार अच्छा प्रदर्शन कर सके हैं. वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज एविन लुईस का फार्म में लौटना राहत का सबब रहा है और इन दोनों से पारी की अच्छी शुरुआत की उम्मीद होगी. 

इसके बाद हालांकि, बाकी बल्लेबाजों को भी अपनी भूमिका निभानी होगी. रोहित बेंगलुरु के खिलाफ एक मैच को छोड़कर नहीं चल सके हैं. मुंबई को उनसे और पांड्या भाइयों हार्दिक और क्रुणाल से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी. 

मुंबई की गेंदबाजी भी चिंता का सबब है. जसप्रीत बुमराह, हार्दिक और मिशेल मैक्लीनागन को क्रिस गेल और के एल राहुल के बल्लों पर अंकुश लगाने के लिए चतुराई से गेंदबाजी करनी होगी.

पंजाब की टीम लीग के दूसरे चरण में खराब फॉर्म से जूझ रही है और उसे सभी विभागों में प्रदर्शन बेहतर करना होगा. राहुल और गेल दोनों को कल उमेश यादव ने शार्ट गेंद पर आउट किया. राहुल 21 रन ही बना सके जबकि इस सत्र के शतकवीर गेल का बल्ला भी नहीं चला. पूरी टीम 88 रन पर आउट हो गई जो इस सत्र में उसका न्यूनतम स्कोर है.

अफगानिस्तान के लेग स्पिनर मुजीबुर रहमान के चोटिल होने से पंजाब को करारा झटका लगा है. ऐसे में अश्विन और अक्षर पटेल पर अतिरिक्त जिम्मेदारी होगी. अश्विन ने पिछले मैच में हार के बाद कहा ,‘‘ हम ऊंचे मनोबल और सकारात्मक तेवरों के साथ खेलेंगे. हमारे पास काफी अनुभवी खिलाड़ी है और हमें नेट रन रेट पर भी ध्यान देना होगा.’’ 

अश्विन को भरोसा, बाकी दो मैचों में बढ़िया प्रदर्शन करेंगे पंजाब के बल्लेबाज
बल्लेबाजी में नाकामी से जूझ रही पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने भरोसा जताया है कि उनके बल्लेबाज बाकी दो मैचों में बढ़िया प्रदर्शन के जरिए आईपीएल प्ले ऑफ में जगह सुनिश्चित करने में मदद करेंगे. पहले बल्लेबाजी के बाद केवल 88 रनों के बेहद कम स्कोर पर पवेलियन पहुंचने वाली पंजाब को होल्कर स्टेडियम में बेंगलुरु हाथों 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा. 

अश्विन ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, "हम अपने पिछले मैचों को भुलाकर अगले दो मुकाबले जीतने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं." पंजाब को अपने अगले दो मैच मुंबई और चेन्नई के खिलाफ क्रमश: कल 16 मई और 20 मई को खेलने हैं. अश्विन की अगुवाई वाली टीम को प्ले ऑफ में पहुंचने के लिए दोनों मैच जीतने होंगे. 

पंजाब के कप्तान ने एक सवाल पर कहा, "हमारी मध्यक्रम की बल्लेबाजी में समस्या है. लेकिन हमारे पास इस क्रम के बहुत अच्छे बल्लेबाज हैं. मुझे भरोसा है कि अगले दोनों मैचों में वे बढ़िया प्रदर्शन करेंगे." अश्विन ने कहा, "अगले दोनों मैच जीतने के लिए हम बेचैन हैं. अगर कोई टीम बेचैन है, तो वह खतरनाक हो सकती है." 

खबर हटके | और पढ़ें


लखनऊ, उन्नाव रेप केस में सीबीआई को जांच करते करीब एक महीने से भी ज्यादा हो चुके हैं. सूत्रों के अनुसार सीबीआई के पास इस बात के 'ठोस सबूत' हैं,...

हम हर दिन होने वाली घटनाओं को अपने दिमाग की तह में बिठा लेते हैं, समय बितने के साथ कभी-कभी हम उनको याद भी करते हैं. लेकिन हमारे याददाश्त की भी एक सीमा है.

वक्त के साथ-साथ हम बहुत सी बातें भूल भी जाते हैं. इसे मेमोरी लॉस कहते हैं और...

अगर आप से कहा जाए कि आप आंखों पर पट्टी बांधकर किताब पढ़ें तो आप सोच में पड़ जाएंगे कि ऐसा कैसे मुमकिन है. बेशक ये दूसरों के लिए नामुमकिन सी चीज़ है पर अब्दुल बिलाल खान के लिए बाएं हाथ का खेल है. बिलाल आंखों पर पट्टी बांधकर ना...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 129536