बड़ी ख़बरें

अखिलेश ने भाजपा की केंद्रीय सरकार को दिया ये ‘खास नाम’ उद्धव ने जारी किया CM फडणवीस का टेप, बीजेपी बोली- क्लिप से हुई छेड़छाड़ OPINION | चार साल में मजबूत हुआ ब्रांड मोदी पर अब भी है अच्छे दिन का इंतजार पंचकुला दंगे के पीछे था खुद राम रहीम का हाथ, अब चलेगा देशद्रोह का मुकदमा मेरठ की किनौनी शुगर मिल में विस्‍फोट, चार लोगों के मारे जाने की आशंका मोदी सरकार ने विकास के हर काम को धर्म और जाति से ऊपर उठकर देखा: CM योगी CBSE 12th result 2018: यूपी में मेघना, अनुष्का और बलबीर ने किया टाॅप PM मोदी के 4 साल पूरे होने पर बोलीं मायावती, हर मोर्चे पर फेल हुई केंद्र सरकार CBSE 12th Result 2018: आज आएगा बारहवीं का रिजल्ट, ऐसे करें cbse.nic.in पर चेक आयरलैंडः भारतीय महिला की मौत के 6 साल बाद गर्भपात कानून बदलने के लिए हुई वोटिंग

वॉशिंगटन: अमेरिका ने बुधवार(16 मई) कहा कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक की तैयारियों में लगा है. उत्तर कोरिया ने इस ऐतिहासिक शिखर वार्ता को रद्द करने की धमकी देते हुए आरोप लगाया कि अमेरिका परमाणु निरस्त्रीकरण पर उसे ‘‘अलग-थलग’’ करने की कोशिश कर रहा है. उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम को एकतरफा तरीके से बंद करने के बदले में अमेरिका की ओर से वित्तीय सहायता को कभी स्वीकार नहीं करेगा.

व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उसपर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा
सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक में दोनों देशों की अपनी सीमा पर सैन्य तनाव कम करने के हाल के समझौतों को लागू करने के तरीकों तथा अपने संबंध सुधारने पर चर्चा करने की संभावना थी. इन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उसपर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा. विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है. 

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका इस संबंध में मीडिया रिपोर्टों से अवगत है. सैंडर्स ने कहा, ‘‘उत्तर कोरिया ने जो कहा उसपर अमेरिका स्वतंत्र रूप से विचार करेगा और अपने सहयोगियों के साथ करीबी सहयोग करना जारी रखेगा.’’

विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है
विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है और दक्षिण कोरिया तथा अमेरिका के बीच चल रहे अभ्यासों पर उत्तर कोरिया ने एक भी शब्द नहीं कहा है. विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा कि किम ने पहले संकेत दिए थे कि वह दक्षिण कोरिया के साथ लंबे समय से नियोजित संयुक्त अभ्यास जारी रखने की अमेरिका की जरुरत और उद्देश्य को समझते हैं.

उन्होंने पत्रकारों ने कहा, ‘‘हमने उस सरकार या दक्षिण कोरिया सरकार से कुछ भी नहीं सुना जो यह संकेत दे कि हम ये अभ्यास ना करें या हम राष्ट्रपति ट्रंप और किम जोंग उन के बीच अगले महीने होने वाली बैठक की तैयारी ना करें.’’ पेंटागन के प्रवक्ता कर्नल रॉब मैनिंग के अनुसार, दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सैन्य बल अभी दक्षिण कोरिया-अमेरिका वार्षिक अभ्यास में व्यवस्थ हैं.

विदेश विभाग ने इन आरोपों को खारिज किया कि ये अभ्यास उकसाने वाले हैं
विदेश विभाग ने इन आरोपों को खारिज किया कि ये अभ्यास उकसाने वाले हैं. केसीएनए ने उत्तर कोरिया के हवाले से कहा कि उसके इस कदम के पीछे की वजह अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच चल रहा सैन्य अभ्यास है. उसने कहा, ‘‘संयुक्त अभ्यास अमेरिका और दक्षिण कोरिया के अचल रूख को दर्शाता है ताकि वह उत्तर कोरिया के खिलाफ अधिकतम दबाव बना सके और प्रतिबंध लगाए रखे.’’ 

इस बीच, उत्तर कोरिया ने इन सैन्य अभ्यासों के कारण दक्षिण कोरिया के साथ होने वाली उच्च स्तरीय बैठक भी रद्द कर दी. उत्तर कोरिया ने कोरियाई देशों के बीच बातचीत विफल होने और उत्तर-दक्षिण कोरिया संबंध खराब होने के लिए दक्षिण कोरिया प्रशासन को ‘‘पूरी तरह से जिम्मेदार’’ ठहराया. बयान में कहा गया है, ‘‘अमेरिका को दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर उत्तर कोरिया के खिलाफ उकसावे की सैन्य कार्रवाई करने से पहले अब डीपीआरके-अमेरिका शिखर वार्ता के भविष्य के बारे में दो बार सोचना होगा.’’

खबर हटके | और पढ़ें


त्य्र

...

फ्द्ग्फ्ग्द

...

ग्ज्ग्फ्ज

...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 130626