बड़ी ख़बरें

बीजेपी हेडक्वार्टर लाया गया वाजपेयी का पार्थिव शरीर, शाम 4 बजे होगा अंतिम संस्कार अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में सुप्रीम कोर्ट में आज 1 बजे तक ही होगा कामकाज 7 दशक तक लखनऊ की 'रगों' में 'बहते' रहे अटल, हर सड़क पर बिछी हैं यादें अटल जी के निधन के शोक में आज यूपी में सार्वजनिक अवकाश, बाजार भी रहेंगे बंद पाकिस्‍तान भी होगा अटल जी के अंतिम संस्‍कार में शामिल, यह नेता करेगा शिरकत भारत-पाक संबंधों के सुधार के लिए वाजपेयी जी के प्रयासों को हमेशा याद किया जाएगा : इमरान खान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, शोक में डूबा देश एम्स में पूर्व PM वाजपेयी को देखने पहुंचे वेंकैया नायडू-अमित शाह, हालत बेहद नाजुक अटल बिहारी वाजपेयी को देखने AIIMS पहुंच सकते हैं सीएम योगी आदित्यनाथ देवरिया शेल्‍टर होम: SP देवरिया के साथ हटाए गए CO सदर, विभागीय जांच के आदेश

लखनऊ, लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्रों के प्रवेश के मामले पर समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल राम नाईक से मुलाकात की। 

विधानपरिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन के नेतृव में गये प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर मांग कि विश्वविद्यालय के कुलाधिपति होने के नाते वो इस मामले में हस्तक्षेप करें और पीड़ित छात्रों के प्रवेश के साथ आंदोलन के दौरान गिरफ्तार छात्रों की रिहाई सुनिश्चित करायें। राज्यपाल ने प्रतिनिधिमंडल की आश्वासन दिया है कि वो इस मामले में उचित कार्यवाही करेंगे। 

इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए प्रतिनिधिमंडल के अगुवा व विधान परिषद में नेता अहमद हसन ने कहा कि आज समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात कर लखनऊ विश्वविद्यालय में व्याप्त शैक्षिक अराजकता में गहरा असंतोष व्यक्त किया है। 

उन्होंने कहा कि हम लोगों ने राज्यपाल से निवेदन किया है कि आप संविधान के संरक्षक होने के नाते मौजूदा सरकार में हो रहे लोकतांत्रिक अधिकारों के दमन पर सख्त रुख अपनाए। 

हसन ने कहा कि हमने राज्यपाल को अवगत कराया मौजूदा सरकार की दमनकारी नीतियों से विश्वविद्यालय भी अछूते नही है। उन्होंने कहा कि हमने राज्यपाल से कहा है कि विश्विद्यालय परिसर हाल ही में हुई घटनाओं की पूरी जिम्मेदारी लखनऊ प्रशासन और मौजूदा शासन की है। उन्होंने कहा कि हमने राज्यपाल को इस बात से अवगत कराया है कि मौजूदा सरकार असहमति की आवाज़ को दबाना चाहती है। 

हसन ने कहा कि हमने राज्यपाल से मांग कि है कि जिन छात्रों को दाखिले नही दिए गए है उन्हें तत्काल दाखिला दिया जाये । जिन छात्रों पर मुकदमा दर्ज हूं उनके तत्काल प्रभाव से हटाया जाये और जेल में बंद छात्रों को तत्काल रिहा कराया जाये। राज्यपाल ने हमे आश्वासन दिया है कि वो मामले में उचित कार्यवाही करेंगे।

प्रतिनिधिमंडल में नेता विरोधीदल अहमद हसन के साथ सपा मुख्य प्रवक्त राजेन्द्र चौधरी, विधानपरिषद सदस्य अरविंद सिंह, सुनील सिंह यादव, राजपाल कश्यप, शैलेंद्र सिंह यादव, बृजेश यादव शामिल रहे।

गौरतलब हो कि लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने मौजूद शैक्षिक सत्र में  छात्रा पूजा शुक्ला समेत 26 छात्रों प्रवेश देने से मना कर दिया है। विश्विद्यालय प्रशासन का कहना है कि ये छात्र पिछले सत्र में निष्काषित है लिहाजा इन्हें प्रवेश नही दिया जा सकता। वहीं छात्रा पूजा शुक्ला के कहना है कि पिछले वर्ष यूनिवर्सिटी प्रांगण में मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने के कारण लखनऊ विश्वविद्यालय ने जान बूझकरर हमारा प्रवेश रोक दिया है। पूजा का कहना कि यूनिवर्सिटी के कुलपति सरकार के इशारे पर बदले की भावना से काम कर रहे है। 

खबर हटके | और पढ़ें


त्य्र

...

फ्द्ग्फ्ग्द

...

ग्ज्ग्फ्ज

...

वीडियो | और पढ़ें


Copyright © 2017 Indian Live 24 Limited.
Visitors . 26429